Breaking News
Home / Politics / पश्चिम बंगाल में भाजपा की बढ़ती लोकप्रियता देखकर ममता बनर्जी..

पश्चिम बंगाल में भाजपा की बढ़ती लोकप्रियता देखकर ममता बनर्जी..

केन्द्र की मोदी सरकार मिशन 2019 की तैयारियों में जोर-शोर से लगी हुई है. बीजेपी का ध्य़ान उन राज्यों में है जहां बीजेपी की हालत पिछले चुनावों के दौरान बहुत ही खराब रही थी या जहां उनके सीटों की संख्या में इजाफे की गुंजाइश है. पश्चिम बंगाल बीजेपी की उसी अभियान का एक हिस्सा है जहां बीजेपी अपनी स्थिति मजबूत करना चाहती है. यही कारण है कि पिछले दिनों प्रधानमंत्री मोदी ने पश्चिम बंगाल के मिदनापुर में बड़ी रैली की. उधर पश्चिम बंगाल में बीजेपी की लोकप्रियता से घबराई ममता बनर्जी दिल्ली दौरे में हैं जहां वह कई विपक्षी नेताओं से मिल कर बैठक कर रही हैं.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी: (Image Source-Navodayatimes)

बीजेपी की बढ़ती लोकप्रियता देख घबराईं ममता बनर्जी

नरेन्द्र मोदी के 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद से पश्चिम बंगाल में बीजेपी की लोकप्रियता लगातार बढ़ी है. वहां भाजपा लेफ्ट और कांग्रेस जैसी बड़ी पार्टियों को पीछे छोड़ते हुए मुख्य विपक्षी दल बन चुकी है. इसके अलावा भाजपा अध्य़क्ष अमित शाह ने भी एक रैली के दौरान एलान किया था कि 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा राज्य की 42 सीटों में से 26 सीटें जीतेगी.

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह: (Image Source-sthindia)

 

अब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बीजेपी की बढ़ती लोकप्रियता देख घबरा गई हैं  इसीलिए उन्होंने  गैर-बीजेपी और गैर-कांग्रेसी गठबंधऩ फेडरल फ्रंट को लेकर जबरदस्त आंदोलन छेड़ने के मूड में नजर आ रही हैं. आपको बता दें कि उत्तरप्रदेश में अखिलेश और मायावती के महागठबंधन के तर्ज पर ममता बनर्जी देश भर में फेडरल फ्रंट बनाने जा रही हैं. इस फेडरल फ्रंट की मुखिया ममता बनर्जी खुद होंगी.

ममता बनर्जी बनाने जा रही हैं फेडरल फ्रंट: (Image Source-Amarujala)

 

ममता बनर्जी बीजेपी को 2019 के लोकसभा चुनाव में हराने के लिए ही फेडरल फ्रंट बनाने जा रही हैं लेकिन विपक्षी नेताओं को एकजुट करने में उन्हें नाकों चने चबाने पड़ रहे हैं.  ममता बनर्जी ने पत्रकारों वार्ता में कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा का मुकाबला करने के लिए मै सभी विपक्षी नेताओं से मुलाकात करुंगी और उन्हें रैली के लिए आमंत्रित करुंगी.

हालांकि बीजेपी ने जिस तरह से यूपी बिहार और हरियाणा में क्षेत्रीय पार्टियों के खत्म किया है और पश्चिम बंगाल में दूसरे नंबर की पार्टी बन कर उभरी है उससे लगता नही कि ममता बनर्जी के मंसूबे सफल हो पायेंगे.

आपसे एक सीधा सवाल

ममता बनर्जी के आडवाणी के पैर छूने को आप किस तरह देखते हैं?

News Source-NDTV