Breaking News
Home / Breaking / राहुल को पीएम उम्मीदवार घोषित करते ही विपक्ष ने कर दिया ऐसा, देख सोनिया जी का चेहरा उतर जायेगा

राहुल को पीएम उम्मीदवार घोषित करते ही विपक्ष ने कर दिया ऐसा, देख सोनिया जी का चेहरा उतर जायेगा

2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों को लेकर सभी राजनैतिक पार्टियों ने कमर कस ली है. पीएम मोदी जी की देशभर में बढ़ रही लोकप्रियता को देख विरोधी पार्टियों की हवा निकली हुई है. जिसके चलते मोदी सरकार को रोकने के लिए विपक्ष महागठबंधन कर रहा है. जहाँ एक ओर राहुल गाँधी महागठबंधन के लिए पार्टियों के एकत्रित करने में लगे हुए हैं वहीँ दूसरी ओर उनके ही गठबंधन के नेता राहुल गाँधी को बड़ा झटका दे रहे हैं.

Image Source-Firstpost

जानकारी के लिए बता दें 2019 का चुनाव अब करीब है. जिसके चलते विपक्षी दल जमकर प्रचार-प्रसार कर रहे हैं, वहीँ उन्ही की पार्टी के नेता बड़ा झटका दे रहे हैं. महागठबंधन में एक ऐसा मामला है, जिसपर सभी की राय बनना मुश्किल है, जिससे राहुल गाँधी की मुश्किल बढ़ सकती हैं. महागठबंधन का पीएम उम्मीदावर तय ही नहीं हो पा रहा है. अभी हाल ही में खबर आई थी कि राहुल गाँधी के विपक्ष की तरफ से पीएम पद के उम्मीदवार हो सकते हैं. जिसके बाद उन्ही की गठबंधन की पार्टियों ने इस बात पर आपत्ति जाताना शुरू कर दिया है. जी हाँ बताते हैं आपको कि कौनसी पार्टी राहुल गाँधी को बड़ा झटका दे सकती है. राहुल गाँधी के सपनों पर पानी फेर सकती है.

Image Source-DailyHunt

जेडीएस- कर्नाटक में हुए विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस की ज्यादा सीटें होने के बाद भी राहुल गाँधी ने जेडीएस को समर्थन देते हुए कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री बनाने के लिए सहमती जता दी थी. जिससे जेडीएस को राहुल गाँधी के प्रधानमंत्री बनने से कोई एतराज नहीं होगा. देवगौड़ा भी इस बात का ऐलान कर चुके हैं कि राहुल गाँधी के पीएम उम्मीदवार से उन्हें कोई परेशानी है. वहीँ गठबंधन की एक पार्टी ने राहुल गाँधी के पीएम उम्मीदावर को लेकर पेंच फंसा दिया है.

Image Source-National Speak

गौरतलब है कि बिहार की विपक्षी पार्टी राजद ने राहुल गाँधी के लिए मुश्किलें खड़ी कर दी हैं. एबीपी न्यूज़ की रिपोट की मानें तो राजद सुप्रीमो लालू यादव के बेटे पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने राहुल गाँधी के पीएम उम्मीदवार को लेकर एतराज जताते हुए कहा है कि”सभी विपक्षी दल एक साथ बैठकर पीएम का नाम तय करेंगे. अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी है.” तेजस्वी की इन बातों से साफ़ हो गया है कि महागठबधंन की तरफ से राहुल गाँधी का पीएम उम्मीदवार बनना आसान नहीं होगा. जोकि राहुल गाँधी के लिए एक बड़ा झटका है. कांग्रेस का तो रुख साफ़ ही है क्योंकि बैठक में सभी की सर्वसम्मति से इस बात का निर्णय ले लिया गया था कि राहुल गाँधी ही पीएम पद के उम्मीदवार होंगे. महागठबंधन में शामिल पार्टियों के सुर से यह भी कयास लगाये जा रहे हैं कि कहीं ये महागठबंधन चुनावों से पहले ही ना बिखेर जाए.

News Source-Jansatta