Posted By editor1
जम्मू कश्मीर में राज्यपाल शासन लगा तो लोगों ने मोदी सरकार के बारे में कहा…

ऐसा तो था ही कि कश्मीर में पीडीपी-और बीजेपी के गठबंधन की सरकार एकदम बेमेल थी लेकिन कश्मीर के हित लिए बीजेपी का सरकार में हिस्सेदारी करना जरुरी भी था. हालाँकि गठबंधन के पीछे बीजेपी की जो सोच थी वो उतनी खरी नहीं उतरी, और इसमें बाधक बनी महबूबा मुफ़्ती और उनकी पार्टी की विचारधारा. जिसको देखते हुए बीजेपी ने पीडीपी का साथ छोड़ दिया है और अब जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन लगा हुआ है. राज्यपाल शासन को लेकर जब ABP न्यूज़ ने 20 शहरों की जनता से बात की तो जो राय सामने आई वो आपको हैरान कर देगी.

राज्यपाल शासन लगने के बाद अब सेना की तरफ से कार्रवाई तेज हो गयी है  (फोटो सोर्स)

80 फीसदी लोगों ने कहा कि..

बता दें कि यह राय 20 शहरों की जनता के साथ-साथ रक्षा विशेषज्ञों की भी है. ABP ने जब लोगों से जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन लगने के फैसले पर सवाल पूछे तो 80% लोगों ने इस फैसले को सही बताया. जिसका मतलब ये हुआ कि मोदी सरकार की ‘कश्मीर नीति’ को लेकर जनता आश्वस्त है और इस फैसले के साथ है.

एक बात तो तय है कि बीजेपी के इस फैसले को जनता ने भरपूर समर्थन ने दिया है (फोटो सोर्स)

कश्मीर में लोगों ने कहा..

कश्मीर में ही जब ABP न्यूज़ के एक संवाददाता ने सुबह-सुबह सैर करने आये लोगों से राज्यपाल शासन पर सवाल किया तो वहां मौजूद लोगों ने कहा कि यह फैसला एकदम सही है. वहीं जम्मू में भी राज्यपाल शासन को लेकर लोगों ने अपनी ख़ुशी जताई. एक व्यक्ति ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ‘देर ही सही लेकिन दुरुस्त है’.

महबूबा मुफ़्ती की सरकार अलगाववादियों से हमदर्दी और पत्थरबाज़ों पर रहम करने की नीति से चल रही थी (फोटो सोर्स)

रक्षा विशेषज्ञ ने कहा कि..

दिल्ली में भी लोगों ने कहा कि, अच्छा हुआ कि ये गठबंधन टूट गया, सैनिकों की सुरक्षा की दृष्टि से भी ये फैसला बहुत बढ़िया है. वहीं रक्षा विशेषज्ञ अजय साहनी ने पीएम मोदी के इस फैसले का समर्थन करते हुए कहा कि, ‘कश्मीर में जो हुआ वो बहुत जरूरी था.’

महबूबा मुफ़्ती की नीतियों की वजह से कश्मीर के हालात और बिगड़ते जा रहे थे जिसकी वजह से बीजेपी ने पीडीपी का साथ छोड़ दिया (फोटो सोर्स)

सबने की पीएम मोदी की तारीफ

इस फैसले को लेकर जितने भी लोगों से बात की गयी, सबने एक सुर में पीएम मोदी की तारीफ की और कश्मीर में अच्छे हालत होने की कामना की. जाहिर सी बात है कि इस फैसले के बाद से मोदी सरकार का रुतबा जरूर बढ़ा होगा.

एक सवाल आपके लिए:

आपको लगता है ‘पीडीपी का साथ छोड़ने’ वाले फैसले से बीजेपी को चुनाव में फायदा मिलेगा ?