नरेश अग्रवाल ने पीएम मोदी को कहा कुछ अपमानजनक तो मोदी जी के भाई से रहा नहीं गया और कह दिया कुछ ऐसा कि पूरी सपा के होश उड़ जायेंगे !

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अभी यूएई के दौरे पर हैं और उनका अंदाज कुछ ऐसा है कि पूरी दुनिया उनकी तारीफों की पूल बांध रही है लेकिन अपने देश में ही विपक्ष के कुछ नेता हैं जो आए दिन पीएम मोदी के लिए कुछ ऐसे शब्दों का प्रयोग कर देते हैं जिसके बाद उनकी हर तरफ आलोचना होती है फिर भी ऐसे बयान देने से नेता रुकते नहीं हैं। ऐसा ही कुछ हुआ है समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल के साथ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में इन्होंने कुछ ऐसे शब्दों का इस्तेमाल किया जिसके बाद इनकी हर तरफ आलोचना ही हो रही है।

source

जी हां नरेश अग्रवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया था जिसके बाद कई लोगों ने इनको अपने-अपने तरीके से जवाब दिया था लेकिन एक और नाम जुड़ गया है और वो कोई और नहीं वो खुद हैं पीएम मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी जिन्होंने नरेश अग्रवाल को करारा जवाब दिया है। ललितपुर में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने गए प्रह्लाद मोदी ने कहा इतिहास जानता है कि एक तेली ने अपना सब कुछ कुर्बान करके हिंदुऔं को बचाने का काम किया है

source

प्रह्लाद मोदी ने सभा में मौजूद लोगों से कहा कि तेली समाज के लोगों के मन में राष्ट्र के प्रति सब कुछ कुर्बान करने की भावना होती है। महाराण प्रताप का उदहारण देते हुए उन्होंने कहा कि जब महाराणा प्रताप हल्दी घाटी के युद्ध में हताश हो गए थे और उनके राजकोष में पैसे नहीं बचे थे तो उस वक्त राष्ट्रभावना से प्रेरित होकर भामाशाह ने अपना सबकुछ महाराणा प्रताप के चरणों में रखकर हिंदुओं को बचाने का काम किया था और भामाशाह जन्म से ही तेली था। उन्होंने अपनी बात को आगे बताते हुए कहा कि जब चाणक्य ने मगध नरेश का अभिमान तोड़ने के लिए पूरा भारत में घूमा था तो उनको एक तेली का बेटा ही मिला था और वो थें चंद्रगुप्त मौर्य।

source

सपा सांसद नरेश अग्रवाल को जवाब देते हुए प्रह्लाद मोदी ने कहा आप तेली समाज का मजाक मत बनाइए। यह समाज राष्ट्र के लिए पूरी तरह से समर्पित हैं और आप तेली समाज के बारे में बोलते हैं की उनके कपड़े तेल वाले हैंमहात्मा गांधी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि देश को आजाद कराने के लिए गांधी जी ने बहुत संघर्ष किया और जानकारी के लिए बता दें मोहनदास करमचंद गांधी भी तेली थे

 

source

जानकारी के लिए आपको बता दें नरेश अग्रवाल ने लखनऊ में एक वैश्य महासम्मेलन में हिस्सा लेते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया था और उन्हें वैश्य समाज का हिस्सा मानने से इनकार कर दिया था। नरेश अग्रवाल द्वारा दिए गए इस बयान पर साहू सामज ने कड़ी आपत्ति जताई थी और उनकी जमकर आलोचना की थी।

source