खुल गया बड़ा राज ! तो इसलिए कर रहे हैं राहुल गांधी ‘कैलाश मानसरोवर’ की यात्रा…

0
6

राहुल गांधी इन दिनों एक बड़ी ही अटपटी खबर को लेकर चर्चा में बने हुए हैं. वह आज यानि की 31 अगस्त से कैलाश मानसरोवर की यात्रा कर रहे हैं. सबसे बड़ी बात यह है कि यह यात्रा करीब 12 दिनों की होगी मतलब कि वह 12 सिंतबर को स्वदेश लौटेंगे. इसी बात को लेकर  राजनीतिक गलियारों में राहुल गांधी की इस यात्रा पर सवाल उठने लगे हैं और माना जा रहा है कि यह राहुल गांधी का ‘पब्लिसिटी स्टंट’ है और कुछ नही. आपको बता दें कि राहुल गांधी की इस यात्रा की सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली गई हैं और वह चीन के रास्ते कैलाश मानसरोवर की यात्रा शुरु करेंगे.

राहुल गांधी 12 दिनों की कैलाश मानसरोवर यात्रा पर: (Image Source-Punjab Kesari)

राहुल गांधी की 12 दिन की कैलाश मानसरोवर यात्रा पब्लिसिटी स्टंट

राहुल गांधी कैलाश मानसरोवर की 12 दिन कि यात्रा पर 31 अगस्त को रवाना हो रहे हैं. हालांकि इस यात्रा को लेकर अलग-अलग राजनीतिक दलों ने सवाल उठाने शुरु कर दिए हैं और इसे मात्र एक ‘पब्लिसिटी स्टंट’ करार दिया है.

गिरिराज सिंह औऱ शाह नवाज हुसैन: (Image Source-patrika)

 

भाजपा नेता शाह नवाज हुसैन का कहना है कि राहुल गांधी को चुनाव के वक्त ही मंदिर याद आते हैं. तो वहीं गिरिराज सिंह ने कहा है कि ‘राहुल गांधी कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जा रहे हैं तो उन्हें शुभकामनाएं!  लेकिन वह यह बता दें कि कौन से राहुल गांधी यात्रा पर जा रहे हैं? हिन्दू राहुल गांधी, ईसाई राहुल गांधी या जैन राहुल गांधी?’

यात्रा का मतलब कांग्रेस का साफ्ट हिन्दुत्व की ओर झुकाव 

दरअसल कैलाश मानसरोवर की यात्रा राहुल गांधी और कांग्रेस का साफ्ट हिन्दुत्व की तरफ झुकाव के तौर पर देखा जा रहा है. ऐसा माना जा रहा है कि राहुल गांधी यह यात्रा बीजेपी के हिन्दुत्व एजेंडे का जवाब देने के लिए कर रहे हैं. हालांकि बीजेपी ने उनकी इस यात्रा पर कई तरह के सवालिया निशान लगाए हैं. बीजेपी का कहना है कि कैलाश मानसरोवर यात्रा शुरु होने पर उन्होंने पंजीकरण नही कराया. और अब सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर यात्रा पर जा रहे हैं.

यात्रा को कांग्रेस और राहुल गांधी की साफ्ट हिन्दुत्व के प्रति झुकाव माना जा रहा है: (Image Source-Punjab kesari)

 

राहुल गांधी ने अप्रैल 2018 में एक चुनावी रैली में कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाने का ऐलान किया था जब उनका प्लेन एक हादसे का शिकार होते-होते बच गया था. इसके अलावा गुजरात चुनावों के दौरान भी राहुल गांधी कई मंदिरों में जाकर पूजा-अर्चना की थी.  इस पर कांग्रेस ने उनका बचाव करते हुए उन्हें सच्चा शिव भक्त कहा था. ये बात और है कि कांग्रेस गुजरात विधानसभा चुनाव हार गई थी.

कैलाश पर्वत के पास स्थित मानसरोवर: (Image Source-punjab kesari)

 

आपको बता दें कि कैलाश मानसरोवर हिमालय में स्थित पवित्र जगह है. माना जाता है कि मानसरोवर के पास स्थित कैलाश पर्वत पर भगवान शिव साक्षात् विराजमान हैं.

आपसे एक सीधा सवाल

राहुल गांधी की इस यात्रा को आप धार्मिक मानते हैं या राजनीतिक ?

News Source-Punjab Kesari