सपा से इस्तीफा देने के बाद पंखुरी पाठक ने किया बड़ा खुलासा: कहा, ‘मैं ब्राह्मण थी और..’

0
207

समाजवादी पार्टी की प्रवक्ता रहीं पंखुड़ी पाठक आजकल चर्चाओं में हैं. उन्होंने हाल ही में समाजवादी पार्टी से इस्तीफा दे दिया था. पार्टी से इस्तीफा देने के बाद पंखुड़ी पाठक ने समाजवादी पार्टी के दोहरे चरित्र पर जमकर बरसते हुए कई खुलासे किए हैं. दिल्ली के हंसराज कॉलेज से पढ़ीं पंखुड़ी ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी के अंदर निगेटिव पॉलिटिक्स इस कदर भर गया है कि अपर कास्ट के लोग खासकर ब्राह्मणों को निशाना बनाया जा रहा था. उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी में उन्हें घुटन महसूस हो रही थी इसलिए उन्होंने पार्टी से इस्तीफा दे दिया. आइए बताते हैं पंखुड़ी ने क्या खुलासे किए हैं.

समाजवादी पार्टी से इस्तीफा दे चुकीं पंखुड़ी पाठक ने पार्टी को लेकर कई खुलासे किए हैं. उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव की प्रगतिशील छवि देखकर वह समाजवादी पार्टी से जुड़ी थीं. लेकिन यूपी का ‘विधानसभा चुनाव’ हारने और ‘घर की लड़ाई’ होने के बाद उनका रुख काफी चेंज हो गया. उन्होंने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी के अंदर उस समय निगेटिव पॉलिटिक्स इस कदर भर गया था कि अपर कास्ट के लोग खासकर ब्राह्मणों को निशाना बनाया जा रहा था.

(Image Source-Sthindia)

पंखुड़ी ने आगे बोलते हुए कहा कि इसी कारण पिछले साल मेरे खिलाफ हेट कैंपेन चलाया गया. हर दिन कई मैसेज आते थे. इन मैसेज में कई भद्दे और गंदे कमेंट किये जाते थे. अखिलेश जी खुद तो सीधे तौर पर कमेंट नही करते लेकिन अपने लोगों को ऐसे कमेंट करने के लिए उकसाते हैं. उन्होंने कहा कि यह सब देखकर उनके घर के लोग बहुत परेशान थे. इतना ही नही पंखुड़ी ने पार्टी पर महिला विरोधी होने का भी आरोप लगाया और कहा कि पार्टी में महिलाओं के प्रति सोच बहुत ही निचले स्तर की है. उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी में ब्राह्मण होने से ज्यादा दिक्कत मेरे महिला होने से थी.

(Image Source-Sthindia)

आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी जहां एक ओर ‘महागठबंधन’ का हिस्सा होकर अगले लोकसभा चुनाव में अच्छे प्रदर्शन के ख्वाब देख रही है तो वहीं दूसरी ओर पारिवारिक कलह की वजह से पार्टी के बड़े नेता शिवपाल यादव इस्तीफा दे चुके हैं और अब पंखुड़ी पाठक के इस्तीफा देने के बाद उनके द्वारा पार्टी पर लगाए गए यह आरोप पार्टी के लिए बड़ा सिरदर्द साबित हो सकता है.