मोदी जी की कुंडली के अनुसार ज्योतिष ने की बड़ी भविष्यवाणी, जानिए इनके अनुसार क्या होगा 2019 में

0
250

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किस तरह अपने जीवन को देश की सेवा में लगा दिया इससे आज हर कोई वाकिफ है. अपना सब कुछ न्यौछावर कर उन्होंने अपना सारा समय देश को देकर आज इतिहास रच दिया है. उन्होंने अपने राजनीतिक करियर में कई बड़े आयाम छुए हैं. उनका जन्म 17 सितंबर 1950 को सुबह 10:15 पर गुजरात के वडनगर के 25000 साल पुराने मेहसाणा में हुआ था. अब पीएम मोदी की कुंडली को लेकर बड़ी भविष्यवाणी सामने आई है, जिसे जानकर विरोधियों को होने लगेगी चिंता.

जानकारी के लिए बता दें कि नरेंद्र मोदी की कुंडली तुला लग्न और वृश्चिक राशि की है. उनके जन्म का नक्षत्र अनुराधा है जोकि दूसरे चरण में हुआ है. ज्योतिषाचार्य पंडित अरविंद तिवारी ने पीएम मोदी की वर्तमान कुंडली के अनुसार 2019 को लेकर बड़ी भविष्यवाणी की है. उन्होंने बताया है कि उनकी कुंडली में गुरु और चंद्रमा ये दो ऐसे योग बन रहे हैं जो उनको दोबारा भारत का प्रधानमंत्री बनाने के लिए काफी हैं.

Image Source-Patrika

पंडित अरविंद तिवारी के अनुसार मोदी की कुंडली में ग्रहों की स्थिति उच्च का बुध वक्री होकर भाग्य का स्वामी होकर, सूर्य और केतु के साथ बारहवें भाव में पड़ा हुआ है. उन्होंने  बताया है कि पंचम भाव का स्वामी शनि शुक्र के साथ युति बनाकर एकादश भाव में चल रहा है. भाव का स्वामी गुरु पंचम भाव में पड़ा हुआ है, वहीँ छठे भाव में राहु और बारहवें भाव का केतु कुंडली में अरिष्ट नाशक योग बन रहा है. अरिष्ट नाशक योग की वजह से ही मोदी को राजनीति में आने वाली सारी बाधाओं को पार करके इस मुकाम तक पहुंचे हैं और यह कारवां आगे भी इसी तरह चलने वाला है.

Image Source-times.com

गौरतलब है कि पंडित अरविंद तिवारी ने बताया है कि पीएम मोदी की कुंडली से पता चलता है कि इनके ऊपर अभी कर्मेश चंद्रमा की महादशा चल रही है, जोकि 10 जुलाई 2022 तक बरकरार रहने वाली है. इससे वह भारत के एक बार फिर से प्रधानमंत्री बनेंगे और पहले से भी ज्यादा पॉवरफुल रहेंगे. कुंडली में बन रहे योग के अनुसार 14 अक्टूबर 2018 से गुरु का गोचर इनकी राशि में प्रवेश करने जा रहा है जोकि 13 महीनों तक चलता ही रहेगा. उन्होंने कहा है कि पीएम मोदी एक बार पुनः भारत के प्रधानमंत्री पद पर अवश्य सुशोभित होंगे.