3 बीजेपी कार्यकर्ताओं के खात्मे को लेकर घिरी ममता की सरकार, सुप्रीम कोर्ट ने बंगाल सरकार को…

0
89

पश्चिम बंगाल में लगातार बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ बर्बरता की खबरें सामने आती रहती है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्याओं को नजरअंदाज करती आ रही हैं जबकि बीजेपी कार्यकर्ताओं की ह्त्या का आरोप टीएमसी के कार्यकर्ताओं पर ही लग रहा हैं. अब इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने ममता बनर्जी को तगड़ा झटका दिया है.पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आए दिन कुछ ऐसा करती रहती हैं जो सुर्खियों में आ जाता है और एक बार फिर से पश्चिम बंगाल सरकार सुप्रीम कोर्ट में घिरती नजर आ रही है.

जानकारी के लिए बता दे कि पिछले कुछ समय से पश्चिम बंगाल में बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या की खबर सामने आती रहती है. माना जा रहा है कि पश्चिम बंगाल में बीजेपी की बढती लोकप्रियता से बौखलायें टीएमसी कार्यकर्ता इस अपराध को अंजाम दे रहे हैं. इसके साथ ही ममता बनर्जी की पुलिस इस मामले को लेकर लापरवाही बरत रही है. हालाँकि इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में दायर की गयी एक याचिका पर कोर्ट ने बड़ा फैसला लिया है.

Source-India.com

बता दे कि जस्टिस एके सीकरी और अशोक भूषण की बेंच ने याचिकाकर्ता की याचिका पर सुनवाई करते हुए राज्य सरकार और सीबीआई से चार हफ्ते में जवाब माँगा है. याचिकाकर्ता की तरफ से गौरव भाटिया ने बीजेपी कार्यकर्ता त्रिलोचन महतो, दुलाल कुमार और शक्तिपद सरकार की ह्त्या का मामला कोर्ट में रखा. उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस इस मामले में लापरवाही बरत रही है. इसके साथ ही याचिका में मरने वालों के परिजनों को 50 लाख रूपये दिए जाने की मांग की है.

Source-Jagran English

गौरव भाटिया ने कहा कि राज्य में तीन लोगों की हत्याएं हुई है जिसके बाद भी पुलिस ने अभी तक एफआयर दर्ज नही की है. इसके साथ पीडित परिवार वालों को धमकाया भी जा रहा है. उन्हें सुरक्षा दिए जाने की मांग भी की गयी है. बीजेपी की बढती लोकप्रियता से घबराए विरोधी पिछले तीन महीने में तीन बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या कर चुके है और प्रशासन हाथ पर हाथ रखे बैठा है.